Home > OBI > Living Waters > मुण्धा – शुद्ध जल

पानी के बिना जीवन के विषय में सोचा भी नहीं जा सकता है। इस मूल आवश्यक्ता को पूरा करने के लिए करोड़ों lwलोग घंटों संघर्ष करते है कि किसी प्रकार कुछ बर्तन पानी भर सकें। पुरुषों को कई मूल्यवान घंटे इस कार्य को करने में बिताने पड़ते हैं, वह समय जिसे वह एक अच्छी कमाई करने के लिए प्रयोग कर सकते थे। महिलाएँ भी मीलों दूर अपने बच्चों को गोद में उठाए पानी भरने जाती है चाहे कितनी भी कठिन राह क्यों न हो। बच्चों को भी अपनी शिक्षा के सपनों की आशा तोड़नी पड़ती थी क्योंकि उन्हें भी पानी भरने जाना पड़ता था।

One Coment, RSS

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*